Friday, December 27, 2013

कडक मिंदी

कडक मिंदी=मराठी+हिंदी..

रिक्षावाला - हां madam .. ये आ गया आपका "विठ्ठलनगर"..

बाई - अरे नई नई यहा नई.. वो आगे वो 'चिंचेका' झाड दिखता है ना
वहासें 'उजवीकडे वळके' थोडा आगे...

रिक्षावाला - अरे madam .. २०रु. मै यहा तक ही आता...

बाई - क्या आदमी हो... अरे कुछ 'माणुसकी' है की नही...
थोडा आगे छोडोंगे तो क्या 'झीझेंगा' क्या तुम्हारा रिक्षा..

हेही वाचा- इंटरनेटवर अमर्याद मोफत जागा कशी मिळवता येईल?
              फुकट मोबाईल रिचार्ज

No comments:

Post a Comment